Home पुराण की कथा इंद्र के आचरण से क्षुब्ध बृहस्पति अंतर्ध्यान हुए तो त्वष्टापुत्र बने नए देवगुरूःभागवत कथा में विश्वरूप के देवगुरू बनने और इंद्र द्वारा उनकी हत्या का प्रसंग

इंद्र के आचरण से क्षुब्ध बृहस्पति अंतर्ध्यान हुए तो त्वष्टापुत्र बने नए देवगुरूःभागवत कथा में विश्वरूप के देवगुरू बनने और इंद्र द्वारा उनकी हत्या का प्रसंग

error: Content is protected !!