Home श्री रामशलाका प्रश्नावली 3

श्री रामशलाका प्रश्नावली 3

चौपाई: उघरहिं अंत न होइ निबाहू। कालनेमि जिमि रावन राहू॥

अर्थः यह चौपाई बालकाण्ड के आरम्भ की है। कार्य की सफलता मे संदेह है।

पुनः प्रयास करें

error: Content is protected !!