Home पुराण की कथा वेदों में बताई गई है देवताओं की तैंतीस कोटिः याज्ञवल्क्य ने जनक के दरबार में दिया 33 कोटि देवों का वर्णन

वेदों में बताई गई है देवताओं की तैंतीस कोटिः याज्ञवल्क्य ने जनक के दरबार में दिया 33 कोटि देवों का वर्णन

error: Content is protected !!