Home उपयोगी कथा विद्वेष का विष यदि समय रहते न रोका गया तो संपूर्ण जाति को ग्रस सकता है जैसे एक सर्प के अपराध के लिए रुरु संपूर्ण सर्प जाति को दंडित करने लगा

विद्वेष का विष यदि समय रहते न रोका गया तो संपूर्ण जाति को ग्रस सकता है जैसे एक सर्प के अपराध के लिए रुरु संपूर्ण सर्प जाति को दंडित करने लगा

error: Content is protected !!